तेरी चूत कह के लूँगा
मेरा नाम रौनक है, मगर सब मुझे रोनी बुलाते है. BBA II year में हूँ. नोर्मल बन्दों जैसे शौक है. कभी कभार बीयर पी लेता हूँ. कभी स्मोक कर लेता हूँ.
काफी बड़ा ग्रुप हैं हमारा. कद 6 फुट है, रंग साफ़ हैं, ठीक ठाक दीखता हूँ. मगर दिमाग शैतान का है. इकलोता होने से जिद्दी हूँ. माँ बाप ने जब जब जो जो माँगा सब दिया. इस लिए किसी चीज़ की कदर नहीं की. लाइफ में न जाने कितनी लड़कियां आई. हर किसी के साथ जैसी इच्छा हुई खेला अच्छी लगी तो ज्यादा और नहीं तो कम. हां यह जरूर है की किसी का दिल कभी नहीं तोडा. पहली मुलाकात से ही ये क्लीयर कर दिया की शादी या लॉन्ग टर्म कुछ भी सीन नहीं है.

यह किस्सा शुरू हुआ जब हम फ्रेंड्स कॉलेज पार्किंग में बैठे थे. नेहा जो हमारे ग्रुप से ही है गाड़ी से उतरी और उसके साथ उतरी वो लड़की जिसने मेरा गरूर, नशा और ऊँची नाक सब खाक कर दिया. उसमे कुछ ऐसा था जो आप को मजबूर कर दे की आप उसे फिर पलट कर देखो. बहुत ही मासूम सा चेहरा, बड़ी बड़ी ऑंखें, लम्बी पलके तो झुकती तो दिल करता की न उठे और उठती तो दिल करता की सिर्फ आप हो को देखे. वो न ही दुबली थी और न ही हष्ट पुष्ट....बस सही जगह पर सही सामान था.

मैं हमेशा की तरह आगे बड़ा.....

मैं : हाय नेहा....व्हाट्स अप.....
नेहा : हे रौनी ....व्हाट्स अप

और मैंने उस लड़की को देखते हुए कहा .....

मैं : हाय...आई एम् रौनी ....नाईस टू मीट यु.

उस लड़की ने मुझे देखा सीधा आँखों में......और कोई जवाब नहीं दिया......मेरे सब फ्रेंड्स मुंह खोल कर कभी उसे और कभी मुझे देख रहे थे. ऐसा आज तक नहीं हुआ था की किसी लड़की ने रौनी को इग्नोर किया हो. नेहा बीच में आई और बात संभाली ...

नेहा : अनु ....दिस इस रौनी ....माय स्कुल फ्रेंड एंड क्लास मेट और रौनी दिस इस अनु .....शी इस फ्रॉम जयपुर. हमारी नयी नेबर है.

अनु : हममम हेल्लो.........रौनी.

अनु ने अभी तक मुझ से नज़र मिला रखी थी. मगर उसकी नज़र में जो भाव था......वो ऐसा था जैसे मानो मुझे देख कर मुझ पर एहसान कर रही हो.
तभी वो पलटी और नेहा से बोली

अनु : चलो तुम्हारे ग्रुप से मिलते है.....फॉर्म भी लेकर भरना हैं......कम ओन

नेहा बेचारी ने मुझे देखा और अनु को लेकर चली गयी. सब से मिलवाया और अनु के साथ कॉलेज ऑफिस में चली गयी. सब हक्के बक्के से मुझे देख रहे थी. तभी मुझे ध्यान आया की मेरा मुह खुला हुआ था. रौनी की ऐसी बेइज़्ज़त्ती किसी लड़की ने आज तक नहीं की थी. मेरी सुलग गयी. धीरे धीरे मेरा मुह लाल हो गया और मेरे मुह से निकला

अनु.....तेरी तो कह कर लूँगा....



Read More Related Stories
Thread:Views:
  तेरी कह के लूँगा 5,014
  तेरी बीवी बड़ी मस्त है 38,906
 
Return to Top indiansexstories