अम्मी की करतुते
नेता जी का लंड बहुत ही गोरा था ..
वो क्रीम कोई विदेशी केले का जूस था
जो बाद मैं मैंने अपनी मॉम की चूत पे लगाकर चाटा था

फिर अलका ने नेताजी यानि अपने पापा का लंड पूरी तरह से अपने मुंह में भर लिया ,
अब नेताजी अपनी सगी बेटी के मुंह को अपने लंड से चोद रहे थे ..
प्रियंका बिलकुल बिंदास होकर अपने पापा का लंड चूस रही थी ,
जैसे की उसका रोजाना का काम हो ..
उधर मॉम और अलका अब लेस्बो करने लगे थे और दोनो 69 करने लगे थे .,
अकेला में ही बच गया था ,
जिसका लंड तो खड़ा हुआ था ...
पर कोई जुगाड़ नहीं बचा था ...
क्यूंकि सब चूत वालिया बीजी थी ...
खैर कोई नहीं इस कुते का भी दिन आएगा ...
तभी नेताजी ने अलका को बुला लिया ..
उसकी गांड में मेरी मॉम का थूक कस के लगा हुआ था ,
अलका नेताजी के पास गयी नेताजी ने उसको चूमना चाटना शुरू कर दिया ,
अलका भी उनका पूरा साथ देने लगी थी..
नेताजी ने मॉम को भी बुला लिया और कहा :-"इसकी गांड ढीली करो सोनिया"...!!
-
मॉम जल्द से कोई क्रीम लाइ और अपनी अंगुली से उसकी गांड के अंदर करने लगी ,
लेकिन मॉम की एक ही अंगुली से ही अलका कराहने लगी थी ..
अलका :- ओह...अहा ... सिसिसिसिसिसिस ओह आहा...
आंटी दर्द हो रहा है प्लीज़ आराम से आंटी प्लीज़ आराम से करो ना ...
लेकिन मॉम बिना रुके हुए लगी रही और लगभग आधी टयूब क्रीम उसकी गांड में डाल दी ,
अलका की हालत अब सही लग रही थी ,
तभी प्रियंका मेरे पास आ गयी और मेरा खड़ा लंड पकड लिया ..
नेताजी हमारी तरफ ही देख रहे थे और मेरी सेक्सी मॉम भी ,
दोनों ये देख मुस्करा गये ..
अब नेताजी ने अलका को दबोच लिया और उसके छोटे-छोटे बोबे दबाने लगे ,
मेरी मॉम उसकी चूत चाटने लगी थी ,
अलका अब दोनों तरफ से शिकार हो रही थी ...!!
शिकारी भी दोनों भयंकर थे ...
उसकी चूत और गांड दोनों गर्म हो गई थी ..
इधर अब प्रियंका मेरे पास आई ओए मेरा लंड अपने हाथो में पकड़ लिया ,
फिर वो अपना सुंदर चेहरा मेरे पास लाइ और उसने अपने मुंह में मेरा लंड ले लिया ,
अब मेरा लम्बा लंड चूसने लगी थी ..
आप उसकी तस्वीरे देख लीजिये ,


इसके मासूम मुंह में लंड डाल के ...
में हो हूँ गया दीवाना ...
क्या चूत है इसकी ..वाह
इसकी मस्त चूत देखिये कितनी मस्तहै ...
जैसे किसी कंवारी लड़की की चूत हो ..




मस्त मस्त चूत वाह नेताजी क्या बेटी पैदा की है !!
उसकी चूत देख कर में सोच रहा था
की नेताजी की बीबी और प्रियंका की मॉम कितनी मस्त होगी वाओ ..
-
*
प्रियंका मेरा लंड चूस रही थी ,
मॉम ने अब अलका को खुला छोड़ दिया,
अलका नेताजी का लंड चूसने लगी पर
प्रियंका की तरह वो पूरी तरह एक्सपर्ट नही थी ,
नेता जी ने उसकी कमर को पकड़ा और उसको कुतिया की तरह खड़ा कर दिया ..
अलका की छोटी और मस्त गांड अब नेताजी के लंड के हवाले थी ..
अब नेताजी का लंड भी मस्त खड़ा हुआ था ,
मॉम भी उनका खूब साथ दे रही थी ,
अलका को नेताजी ने अपना जूठा हुआ पेग दिया जिसको अलका झटके से पी गयी ,
मॉम अब अलका की गांड के छेद में अपनी एक अंगुली डाल के हिलाने लगी थी ,
तभी अलका ने नेताजी का मस्त लंड अपने मुंह में ले लिया ,
मॉम उठ के खड़ी हो गयी और कोई क्रीम लेकर आई ..
जिसको वो अपनी अंगुली से अलका की मस्त और पतली गांड में लगाने लगी ,
अलका खूब गर्म हो चुकी थी ,
अब अलका और नेताजी गर्म हो चुके थे ...
अब अलका की गांड में नेताजी का लंड जाने ही वाला था ...
बस कुछ ही देर बची हुई थी,
अलका अपनी गांड को चोडी कर किसी कुतिया की तरह लेट गयी थी ,
नेताजी का लंड बिलकुल मस्त खड़ा हुआ था ..
मॉम ने उनके लंड को अपने मुंह में ले लिया ओर चूसने लगी ..
फिर मॉम ने उनके लंड पे कोंडोम लगाया ..
ओह ****
तभी प्रियंका मेरा लंड अपने मुंह से निकाल कर खड़ी हो गयी ,
वो अपने पापा से बोली '' पापा क्या में और राहुल स्विमिंग करने जाये क्या"
नेताजी ने झट से हामी भरदी ...
मेरी अलका की गांड की सील टूटते देखने की तम्मना ही रह गयी ,
प्रियंका मुझे हाथ पकड़ के बाहर ले गयी ...
हम दोनों नंगे ही थे और एकदम जन्मजात लग रहे थे !!
फिर हम छत पे चले गये रस्ते में कोई नहीं था ....
वाओ क्या नजारा था छत का ...
छत पे स्विमिंग पुल बना हुआ था और लाइट भी लगी हुई थी ,
प्रियंका मुझे उसके अंदर खिंच के ले गयी ..
अब हम दोनों स्विमिंग पुल में नहा रहे थे ...
तभी प्रियंका ने बोला :- राहुल मुझे भूख लग रही है ..क्या तुम भी कुछ खाओगे क्या ...?
भूख मुझे भी लग रही थी ..
मैंने हामी भरदी प्रियंका ने बाहर जाकर कोई बटन दबाया और वापस आकर मेरे पास नहाने लगी ..
कोई 5 मिनिट के बाद वोही सांवली औरत आई जो नेताजी की मसाज कर रही थी ..
फिर प्रियंका ने खाने का आर्डर दिया ,
फिर बोली पहले दो बियर भिजवा दो और मोना के हाथ भेजना रानो ...
(उसका नाम रानो था )
रानो जल्दी से चली गयी और प्रियंका और में एक दूजे के नंगे शरीर का मजा लुटने लगे थे ...
वो मेरा लंड सहला रही थी और में उसके बोबे दबा रहा था साथ में उसकी मस्त गांड को भी दबा रहा था !!
वो पुरे मजे सब कर रही थी और करवा रही थी ,
में अब उसकी चूत में अंगुली करने लगा था,
जबकि वो मेरा लंड सहला रही थी अब मुझे चूत की जरूरत महसूस होने लगी थी
अब मेरा लंड भी 90डिग्री में खड़ा हो गया था ,
लग रहा था की जेसे क़ुतुब मीनार खड़ा था ....!!
तभी एक कमसिन और बेहद ही पतली लड़की जो एकदम नग्न थी ,
वो अपने हाथ में दो बियर और नमकीन लेकर आ रही थी ..
वाओ क्या माल थी वाकई में मस्त लग रही थी ....
कितनी स्लिम थी वो वाह 'मोना'
वाह कितनी मस्त चूत दिख रही थी ...
एकदम संकरा रास्ता था उसकी चूत का ...
ऐसा लग रहा था की उसकी चूत में कोई अंगुली भी नहीं गयी है ..
वो हमारे पास आई हम दोनों को बियर पकड़ाई ,,
फिर वो अपनी टाँगे स्विमिंग पुल के अंदर डाल कर बेठ गयी ...
क्या नजारा था वाह वाह क्या कमसिन चूत थी उसकी ..मोना की ....
प्रिनका ने जब मेरी नजरो को टटोला और उसको लगा की में मोना की चूत को आँखे फाड़-फाड़ देख रहा हूँ ,
तो उससे रहा नही गया और मेरा लंड जोर-जोर से मुठीयाने लगी ....
मानो जैसे वो मेरे लंड को तोडना चाहती थी ...
तभी उसने जोर का झटका मारा तो उसके हाथ से मेरे गोलियों यानी अंडकोषों को हल्की सी चोट लग गयी ..
में दर्द से तडफ के चिल्लाया :- आहा ओह मॉम ओह ओह ओह .....
प्रियंका तो जैसे पागल ही हो गयी थी ...
वो जोर जोर से मेरे लंड को हिला रही थी ,
मोना बड़े ही गौर से ये सब देख रही थी ...
मेरा लंड तो जैसे किसी बहुत ही बड़ी कैद में था ...
लेकिन वो खड़ा था और ..
किसी चूत का दरवाजा देख रहा था,
क्या कोई चूत मेरा लंड अपने भीतर लेगी मेरे लंड को..
मोना हमको इस तरह मस्ती करते देख कर खुश हो रही थी खिलखिला रही थी ...
तभी प्रियंका ने मेरा लंड छोड़ दिया और मोना को अंदर आने को कहा ..
(हम दोनों स्विमिंग पुल में मात्र 3 फुट पानी में ही खड़े थे )
मोना अंदर आ गयी और प्रियंका ने उसको चूम लिया और अपनी बांहों में भर लिया ..!!
फिर मोना भी उसको चूमने लगी थी ...!!
दोनों मुझको लेस्बियन सेक्स के मुड में लग रही थी ..
लेकिन मोना उसको चूमकर मेरे पास सरक आई और मुझे कसकर अपनी बांहों में ले लिया ..
में चौंक गया , ये क्या लेकिन मेरे खड़े लंड को जैसे झटका सा लगा ,
मेरे लंड को चूत की सख्त जरूरत थी ..
प्रियंका दे ना दे मोना की ले लेता हूँ ,में मन ही मन यही सच रहा था ..
मेरा लंड अपने पुरे मुड में आ चूका था... मोना की चूत भी कम नही थी ,
लेकिन तभी प्रियंका मेरे पास आई और मेरा लंड फिर से सहलाने लगी ....
क्या चाहती थी ये लडकी पता नहीं ...?
मैंने भी अब उसकी गांड पर हाथ फिराना शुरू कर दिया...
कुछ देर बाद अपनी एक अंगुली उसकी गांड में घुसा दी मैंने...
वो हल्के से सिसकी लेकिन कुछ बोली नही में उसकी गांड अपनी अंगुली से मरने लगा फिर ,
फिर वो घोड़ी बन कर मेरा लंड चूसने लगी और में अपनी अंगुली से उसकी गांड मरने लगा ...
कुछ देर ये चलता रहा ..
फिर प्रियंका ने मुझसे कहा :- राहुल बोलो किस से चुदाई की शुरुआत करोगे ...?
मेरी चूत से या मोना की चूत से बोलो ...?
*
में असमंजस में था किसकी पहले मारू ..?
*
तभी मोना बोल पड़ी :- पहले आप प्रिया की ले लो कितनी गर्म हो रही है ये ..
लगता है आज नेताजी ने इसकी ली नही है ..?
*
प्रियंका :- कमीनी साली लगता है की तेरी चूत में नही गांड में खुजली है जो मेरे पापा के लंड से ठीक होगी ,
हरामजादी रण्डी कंही की जब देखो खुद की गांड में लम्बा लम्बा लंड लेने की सोचती ही रहती है ...!!
*
मोना :- सही कहा तुमने और तू तो पक्की लेस्बियन है ,
तेरे से बड़ी चूत चटवाने और चाटने वाली इस दुनिया में कोई नही है,
अपनी दीदी अपनी चाची ,मौसी और किसी कुतिया को भी नहीं छोड़ा है ,
तुमने और मुझे रण्डी कहती है ,
तूने तो 4 -4 लंड का एक साथ पानी पिया है ..
याद है की भूल गयी प्रिया ...?
*
उन दोनों की इस सेक्सी तकरार और गाली गलौच मुझे और भी उकसा रही थी ,
मेरा सुबह से चूत के लिए तडफ रहा लंड और भी कड़क हो चूका था ..
लेकिन किसको पकडू और किसको चोदु पहले ...?
तभी मोना ने प्रियंका की गांड में अपनी अंगुली घुसा दी ,
इस अचानक हुए हमले से प्रियंका चीख पड़ी ..
फिर प्रियंका ने भी उसके बोबो को को जोर से दबा दिया और उसके गालो को अपने दांतों से काट लिया ,
मोना के गालो पे चिन्ह हो गया था ,
वो दोनों फिर एक दूजे के शरीर से खेलने लगी मानो की जैसे ...
में तो वंहा था ही नही ...!!
कुछ देर में प्रियंका बियर पिने लगी ...
तभी बियर खत्म हो गयी प्रियंका ने मोना को बियर लाने को कहा,
और साथ में कंडोम भी मंगवा लिए ...
में समझ गया अब मेरे लंड को चूत या गांड मिलने ही वाली है ....
मोना एकदम नंगी ही चली गयी,
मैंने प्रिय को अपनी बांहों में जकड़ लिया और चूमने लगा ..
मेरा खड़ा लंड उसकी चूत से सटा हुआ था ,
प्रियंका भी मेरा साथ दे रही थी मैंने अपना लंड उसकी चूत पे सेट किया ,
लेकिन प्रियंका ने मुझे रोक लिया ,
वो बोली :- राहुल मुझे आपका लंड पसंद है पर तुमको पहले मोना की गांड मारनी पड़ेगी ,
क्यूंकि इस कुतिया से मुझे बहुत जलन है ये पापा की खाश चमची है ,
पापा इसकी गांड से बहुत प्यार करते है और इसको हर तरह से खुस रखते है ,
तुम उसकी गांड इस तरह मारो की उसकी गांड फट जाए प्लीज राहुल ..
तुम मोना की गांड में अपना लम्बा और मोटा लंड डालो और ऐसी गांड माँरो की
वो दो -तीन दिन चल भी न पाए ...राहुल तुम मेरा ये काम करदो ..
फिर मेरी चूत गांड और अलका की चूत भी तुमको मिल जाएगी ..
प्लीज़ ...उसकी गांड को जम कर मारो ना ,
*-*
(अब में क्या करता दो कमसिन चूत और एक मस्त गांड फ्री मैंने हां भरदी )
*-*
तभी मोना बियर लेकर आ गयी ...
लेकिन वो कोंडोम नही लाइ थी ..
प्रियंका ने पूछा तो वो बोली :- कोंडोम आपके पापा के कमरे में है ,
उन्होंने रूम लोक किया हुआ है ...
लगता है कोई स्पेशल प्रोग्राम चल रहा है वंहा ....??
*
में समझ गया की उधर अलका की गांड जम के बजा रहे है नेता जी ...
लेकिन मेरे लंड का क्या ..
तभी मोना ने दो बियर खोली और हम दोनों को पकड़ा दी !!
*
प्रियंका बोली :- साली हाथ में क्या देती है मुंह में दे ना मेरे ...
या अपनी गांड में राहुल का लंड लेले कुतिया ...बोल
मेरे मुंह में देगी या गांड में इसका मस्त लंड लेगी ..
आज तो इसका लंड ले ही ले क्यूंकि पापा अलका की गांड मार रहे है .
बाद में राहुल की मम्मी उनका लंड छोड़ने वाली नही है ...
आज बहुत मुश्किल है तेरा पापा से गांड मरवाना मोना ,
इसलिए राहुल का लंड ही लेले ना आज तू मोना ..
मोना ने मेरे लंड की तरफ देखा उसकी आँख चमक गयी ,
उसकी जीभ लपलपाने लगी और वो स्विमिंग पुल में उतर के मेरे पास आ गयी ..
अंदर आकर मोना ने मेरा लंड अपने हाथ में ले लिया ,
वो बड़े ही गौर से मेरे लंड को देखने लगी थी ,
तभी प्रियंका ने उसको पीछे से दबोच लिया ..
प्रिनका उसके बोबे दबाने लगी और मुझे उकसाने लगी उसकी गांड मारने को ..!!
*-*
मोना भी तैयार ही थी मेरा लंड अपनी मस्त गांड में लेने को ..
वो मेरे लंड को मुठ मारने लगी और मेरे निप्पल को चूसने लगी ,
प्रियंका भी उसके बोबे दबा रही थी ..
मैंने मोना को लिप किस किया उसने भी साथ दिया ,
मेरा लंड अब मोना के पेट और उसकी चूत से रगड़ खा रहा था,
उसकी चुन्चिया तनतना रही थी ..
मामला बहुत गर्म हो गया था हम दोनों का ,
मेरा लंड तो सुबह से ही किसी चूत की तलाश में था ..
मोना की चूत मस्त थी बस थोड़ी झांटे थी ,
पर मुझे शुरुआत उसकी मस्त गांड से करनी थी ..
अब मोना भी पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी ,
उसने लंड को जोर जोर से हिलाना शुरू कर दिया था ..
उधर प्रियंका ने मोना की गांड में अंगुली करना शुरू कर दिया था .
जल्द ही मोना सिसियाने लगी और कहने लगी
'चोदो मुझको राहुल जोर जोर से चोद लो मुझको ''
में तो तैयार ही था ..
लेकिन तभी प्रियंका ने पूल पर ही बने हुए कमरे में चलने को बोला ,
में और मोना जल्द से बाहर निकले प्रियंका भी साथ ही निकल गयी और उस कमरे में गये ...
कमरा मस्त था एक डबलबेड था और बाथरूम भी ,
में अंदर जाते ही मोना के बोबे चूसने लगा और उसकी चूत पे अपना लंड रगड़ने लगा ..
मोना भी पूरा साथ दे रही थी ,
तभी प्रियंका बोली :- मोना गांड में लेना है तुमको इसका लंड ...याद है ना ..?
*-*
मोना :- हाँ प्रियंका ले लुंगी न ..
*-*
प्रियंका :- लेकिन कोंडोम नही है ..कैसे लेगी फिर तू मोना ...?
*-*
मोना :- तो क्या हुआ ..न में बीमार हूँ ,
न ही राहुल फिर क्या दिक्कत है बिना निरोध इसका लंड लेने की ,
फिर तुम्हारे पापा भी बिना निरोध ही चुदाई पसंद करते है ना प्रिया ..
*-*
अब मैंने मोना की कमर पकड़ ली और मेरा लंड उसकी गांड पर घसने रगड़ने लगा ,
प्रियंका ने जल्द से अपने मुंह से अपने हाथ पे बहुत सा ठुक निकला और मोना की
गांड पे लगा दिया और मोना मेरा लंड चूसने लगी ,
मेरा लंड इस मालिस से अब चमकने लगा था ...
अब इन्तजार मुश्किल ही था ..
हम तीनो पास में ही बने रूम में गये और मोना जल्दी से उलटी होकर लेट गयी ..
ओह क्या मस्त गांड थी मोना की ..
वाह वाह
मजा आ गया देख कर ही ये नजारा ...
अब मेरा लंड तैयार था नई गांड के लिए ..
मैंने झट से उलटी लेती हुई मोना की गांड में अपनी जीभ डाल दी ,
फिर अपनी जीभ से उसकी गांड के छेद को चाटने लगा ..!!
*-*
(दोस्तों इसके दो फायदे है ...)
1- लडकी मस्त तरह से उतेजित हो जाती है ..
2- उसकी गांड अच्छे से गीली हो जाती है
जिससे आपके लंड को गांड में आराम से जगह मिल जाती है ,
और उस लडकी को ज्यादा दर्द भी महसूस नही होता है ..!!
*-*
अब मोना मारे उतेजना के सिसियाने लगी और चीखने लगी ..
मोना :- राहुल प्लीज प्लीज मेरी गांड में अपना लंड डाल दो न ,
अब मुझसे रहा नही जा रहा है ..
मेरी गांड को फाड़ दो चोदो न मेरी गांड को प्लीज़ .!!
लेकिन मैंने अपनी जीभ उसकी गांड में डाल डी और अंदर बाहर करने लगा
जैसे लंड से चुदाई के वक्त करते है ...
मोना का हाल ही बुरा हो गया मारे उतेजना के अब तो ...
मोना :- सी ईईइ आहा ओह ...राहुल ओह्ह सी ससी माँ
अहा ओह ...राहुल मेरी गांड मारलो अब...
प्लीज मेरा पानी निकल जाएगा वरना इस तरह से
तुम चाटते रहे तो .......!!
प्रियंका भी मेरी इस स्टाइल को देख कर दंग रह गयी थी .
अब मेरा लंड तैयार ही था ...
सो मैंने देर ना करते हुए
अपना मस्त और लम्बा लंड धीरे से उसकी गांड के छेद में डाल दिया .
मेरे लंड के मोटे सुपाडे को मह्सुस कर के मोना की गांड थरथरा सी गयी ,
तभी उलटी लेती हुई मोना के मुंह के पास प्रियंका बेठ गयी और मोना का मुंह अपनी चूत से सटा दिया ,
मतलब अब मोना प्रियना की चूत चाट रही थी और में मोना की गांड में लंड डाल रहा था ...!!
मैंने धीरे से अपने लंड को मोना की गांड में आगे की तरफ बढाया ...
मोना चिल्ला पड़ी :- ओह सी सी सी सी ..राहुल प्लीज धीरे से करो ना ..
मैंने अपना लंड बाहर निकाल कर थोडा सा थूक उसकी गांड के छेद में लगाया और फिर से
अपने लंड को उसकी गांड में डाल कर धीरे धीरे आगे बढाने लगा ...!!
प्रियंका अपनी चूत चटवा रही थी और साथ ही में अपने दोनों हाथो से मोना के बोबे दबा रही थी ,
मोना भी पूरी तरह से उतेजित हो चुकी ही थी ..
मैंने प्रियंका को उसका मुंह दबाने का इशारा किया और एक धक्का जोर से उसकी गांड में मार दिया ...
शुक्र था की उसका मुंह दबा हुआ था वरना वो जोर से चिल्लाई थी ,
मेरा लंड लगभग आधा उसकी गांड में चला गया था ...
अब में धीरे धीरे आधे लंड से उसकी गांड मारने लगा था ,
करीब 5 मिनिट में ही मोना का दर्द कम हो गया और में झटको की स्पीड बढाने लगा ,
अब करीब 5 इंच लंड उसकी कसी हुई गांड में जा चुका था,
अब मोना फिर से प्रियंका की चूत चाटने लगी थी ,
वो सिसियाने भी लगी थी ...
तभी प्रियंका ने मुझे पूरा लंड डालने का इशारा किया ,
उसने मोना का मुंह अपनी टांगो और चूत के बिच में दबा रखा था ,
मैंने भी अब अपना पूरा लंड मोना की गांड में घुसा दिया ,
मोना की हालत खराब हो गयी थी ,
लेकिन मैंने कोई तरस नही खाया और उसकी गांड मारने लगा ..
मेरा पूरा लंड उसकी गांड में जा चूका था ,
थोड़ी ही देर में उसका फिर से दर्द कम हो गया और वो अपनी गांड उछलने लगी ,
प्रियंका ने उसका मुंह छोड़ दिया ,
अब वो मजे से अपनी गांड मरवा रही थी ...
फिर 20 मिनिट तक उसकी गांड मरने के बाद मेरा लंड जवाब देने लगा था ,
तभी प्रिया बोली :- राहुल लंड का पानी हम दोनों के मुंह में निकलना प्लीज़ ..!!
मैंने अपना लंड मोना की गांड से निकाला लंड पे थोडा थोडा पीलापन था ,
जो शायद उसकी गांड में लग गया था ,
अब में खड़ा हो गया और वो दोनों मेरे लंड के सामने बैठी हुई थी,
मैंने लंड को अपने हाथ से दो तीन झटके ही दिए थे की
वीर्य का फव्वारा छुट गया जो उन दोनों के चेहरे बोबो और शरीर पे फ़ैल गया ,
तभी प्रिय मेरा लंड अपने मुंह में लेकर चूसने लगी ,
उसपे थोडा सा लेट्रिन भी लगा हुआ था पर प्रिय आराम से चूस रही थी ,
मोना हांफ रही थी ..
मेरा लंड चूसने के बाद प्रिय और मोना ने एक दूजे के चेहरे से मेरा वीर्य चाट के साफ़ कर दिया ,
फिर हम तीनो सुस्ताने लगे .....
करीब एक घंटे तक हम सुस्ताते रहे ...
मेरी तो आँख ही लग गयी थी ..!!
प्रियंका ने मुझे उठाया ..मोना जा चुकी थी ,
मैंने हाथ मुंह धोया प्रियंका भी फ्रेश हो गयी ,
फिर उसने बताया की मोना की चाल ही बदल गयी थी ,
मेरे लंड से गांड मरवा के ...ये बताते हुए वो बहुत खुश थी ..!!
खेर में तो अब किसी की चूत में अपना मुसल सा लंड डालना चाहता था ..
तभी मुझे मॉम और अलका की याद आई ,
मैंने प्रियंका को इसके बारे में बोला ,
प्रियंका :- हां यार राहुल काफी देर हो गयी चलो हम चलते है पापा के रूम में ..!!
फिर हम दोनों नंगे ही नेताजी के कमरे की और चल पड़े !!
कमरा बंद था प्रियंका ने धकेला तो वो खुल गया,
अंदर बेड पे मेरी मॉम और नेताजी नंगे ही लिपटे हुए सो रहे थे,
सोफे पर अलका लेती हुई थी गांड उपर करके उसकी गांड थोड़ी सूजी हुयी सी थी ,
प्रियंका उसके पास गयी ,
उसको उठाया ...
उसकी आँखे लाल थी और नम भी थी ...
लगता था की पहली बार गांड मरवाने से उसको काफी दर्द हुआ था ,
वो गांड के बल बेठ भी नही पा रही थी ,
फिर प्रियंका ने मॉम और नेताजी को जगाया ..
उनको जगाकर अलका के बारे में बताया तो नेताजी ने किसी डोक्टर से बात की
उसको सारी बात बताई और दवा लेकर आने को कहा ....!!
में मॉम के पास बैठ गया ,
उनके गाल पे दांत के निशाँन थे ..
जो शायद नेताजी ने लगाये होंगे खेर...
तभी मॉम ने मुझे अपनी तरफ खिंच लिया और अपने बाहुपाश में ले लिया !!
मेरा मुंह उनके बोबो के बीच में था ,
में अपनी ही मॉम के बोबे फिर से चूसने लगा ..
तभी मॉम ने नेताजी से कहा :- डोक्टर तो बुला लिया है ,
लेकिन क्या ये सेफ रहेगा क्या बोलो ...?
नेताजी मुस्करा दिए और बोले :- सोनिया क्यूँ फ़िक्र करती हो मैंने पता है..
किसको बुलाया है,
डॉ. आयशा को याद है ना या भूल गयी तुम ...!!
*
मॉम :- ओह वो आयशा हाँ याद है ना ,
आपको अपनी बेटी की चूत और गांड गिफ्ट की थी ना उसने
ओह वो आ रही है फिर तो धमाल होगा धमाल ..!!
*
तभी प्रियंका ने नेताजी से पूछा की
'पापा ये आयशा कौन है और अपनी बेटी क्यूँ दो आप को बताओ ना ..?
*
नेताजी ने मॉम से कहा तुम ही बताओ इसको सारी बात फिर नेताजी वाशरूम चले गये ,
में अलका और प्रियंका मॉम के बोलने का इन्तजार करने लगे ..!!
प्रियंका से रहा नही गया उसने मॉम को पूरी स्टोरी बताने को कहा ..!!
मॉम बताने लगी :-
आयशा एक लेडी डॉक्टर थी,
बहुत ही नामचीन सालभर पहले उसका नाम एक स्केंडल में आगया था ,
एक छोटी सी लडकी का इलाज करते हुए उसने और उसकी नर्स ने उसके साथ लेस्बियन sex किया और विडिओ बना लिया था ,
जिसका उस लडकी ने ने भी मोबाइल पे वीडियो बना लिया था ,
वो लडकी नेताजी की खाश आइटम की बेटी थी ,
महीने भर बाद उस लडकी की मा ने वो विडिओ देख लिया फिर क्या था ,
मामला पुलिस में पहुंचने ही वाला था की नेताजी को पता चल गया और फिर क्या था ,
नेताजी ने उस डोक्टर (आयशा) को धमकाया और वो विडिओ को पुरे शहर में फ़ैलाने की धमकी दी ,
फिर क्या था वो डोक्टर अपनी ही कमसिन लडकी की चूत अपने ही सामने नेताजी से चुदवाई .
तब वो मामला ठंडा पड़ा था....!!
तभी से ही वो नेताजी की खाश है ..!!
*-*-*-*-*
तभी बहार गाडी आने की आवाज आई ,
मॉम बोली :- लगता है की आयशा आ गयी है ..?
इंटरकॉम पे आवाज आई की डोक्टर और एक नर्स आई है ,
नेताजी ने सिर्फ डोक्टर को अंदर भेजने को कहा .
डोक्टर अंदर आई ओह वाह क्या माल लग रही थी वो तो
लगभग 40-42 साल की लग रही थी वो ,
स्लिम थी और बड़े बड़े बूब्स थे मस्त चाल थी उसकी ...
अंदर आते हो वो नेताजी से लिपट गयी दोनों एक दूजे को चूमने लगे !!
फिर डॉक्टर ने पुछा की किसकी गांड में दर्द हो रहा है ..?
नेताजी ने अलका की तरफ इशारा किया वो अलका के पास गयी और गांड देखने लगी,
फिर नेताजी को नर्स बुलाने को कहा :- नेताजी बोले क्या ये ठीक होगा आयशा ..?
आयशा बोली :- चिंता ना कीजिये वो भी आपका गांड में लेगी अभी यंही ..!!
मॉम और नेताजी खिलखिला पड़े ...!!
नर्स को भी बुला लिया गया ,
वो हम सबको नंगा देख मुस्करा रही थी ,
उसने अलका को चेक किया और उसकी गांड में कोई दवाई लगाई ..
तभी नेताजी ने आयशा की टीशर्ट को उपर किया
में दंग था वन्ही प्रियंका भी उसके बूब्स देख कर अपनी जीभ होंठो पे फिराने लगी ..
उस नर्स का नाम था शालू मस्त माल थी कमसिन उम्र की लग रही थी ,
मॉम ने मुझे इशारा किया में उसके पास चला गया ,
वो अलका की गांड में अपनी अंगुली से कोई दवा लगा रही थी ,




मैंने पीछे जाकर उसके बूब्स पकड़ लिए ..
उसने कुछ नही कहा बल्कि मुस्करा गयी वो तो ,
मतलब उसको भी इन सब की आदत थी ..
{सामूहिक सेक्स की }




शालू की गांड बड़ी ही मस्त थी दोस्तों ,
क्या मजा दे रही थी मुझको वाह क्या बताऊ आपको ...
जबकि अभी तक मेरा लंड उपर उपर से ही मजा ले रहा था ,
अंदर गया तो क्या क्या होगा सोचो ना दोस्तों ..
नेताजी आयशा के साथ बीजी थे ,
मॉम अब प्रियंका को अपने साथ सुला चुकी थी ..
वो दोनों लेस्बियन sex में लग गयी थी ..
नेताजी आयशा में लगे हुए थे ..
में अलका और शालू के साथ था ,


Read More Related Stories
Thread:Views:
  अम्मी की बदमाशियां 4,489
  अम्मी और खाला को कुत्तों की तरह चोदा 142,828
  अम्मी ने गांड मरवा दी मेरी 59,376
  अपनी अम्मी को जरूर चोदना 14,872
 
Return to Top indiansexstories